प्रदूषण से फेफड़ों को होने वाले नुकसान को कम करती है एस्प्रिन - JivikaToday

Blog Archive

Search This Blog

प्रदूषण से फेफड़ों को होने वाले नुकसान को कम करती है एस्प्रिन

प्रदूषण से फेफड़ों को होने वाले नुकसान को कम करती है एस्प्रिन


एस्प्रिन का इस्तेमाल पहले दर्द और सूजन को दूर करने में किया जाता था. लेकिन हाल ही में हुई स्टडी में यह खुलासा हुआ कि एस्प्रिन प्रदूषण से फेफड़ों पर पड़ने वाले हानिकारक प्रभावों को भी कम कर सकती है. यह स्टडी जर्नल ऑफ रेस्पिरेट्री एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन में पब्लिक हुई.


इस शोध में बोस्टन के 73 साल की औसत आयु वाले 2283 पुरुषों को शामिल किया गया जिसमें उनके फेफड़ों के काम करने की क्षमता और सेहत का परीक्षण हुआ. हर व्यक्ति के फेफड़ों के टेस्ट का रिजल्ट, एस्प्रिन का उपयोग करने वाले और पार्टीकुलर मैटर/ ब्लैक कार्बन के स्तर के बीच संबंध पर भी जांच की गई.


शोधकर्ताओं ने शोध के बाद पाया कि एस्प्रिन का उपयोग करने से फेफड़ों के काम करने पर पीएम का नेगेटिव प्रभाव लगभग आधा हो जाता है. शोध में शामिल ज्यादातर लोग एस्प्रिन ले रहे थे. शोध के ऑथर का कहना है कि स्टडी का निष्कर्ष मुख्य रूप से एस्प्रिन पर ही लागू होता है.


वहीं यह भी कहा जा रहा है कि एस्प्रिन के इस्तेमाल से फेफड़ों के काम करने पर पॉजिटिव असर पड़ता है और इस पर आगे और भी शोध होना चाहिए. शोधकर्ताओं का अनुमान है कि एस्प्रिन फेफड़ों के काम करने की क्षमता को बहुत बेहतर बनाती है. इसके अलावा वायु प्रदूषण से फेफड़ों में जो सूजन आती है, उसमें भी एस्प्रिन राहत पहुंचा सकती है.

*we won't spam you

LifeStyle

Yoga Meditation

Post A Comment:

0 comments: